India Pakistan War 1965 Lahore: India और Pakistan का‍ Relation भी बड़ा अजीब है! प्‍यार होते हुए भी सीमा (Border) पर जंग जारी रहती है! India ने हमेशा से ही Pakistan के आगे दोस्‍ती का हाथ आगे बढ़ाया है!

India Pakistan War 1965 :

India Pakistan War 1965

लेकिन PAK ने हर बार उस हाथ को ही काटने की कोशिश की है! आज हम आपको India और Pakistan की जंगी दुश्‍मनी का एक किस्‍सा सुनाने जा रहे हैं जो वाकई में काफी Interesting है!

1965 की जंग (1965 War)

India Pakistan War 1965

1965 में India और Pakistan के बीच जंग (War) हुई और उस समय जयंतो नाथ चौधरी Army Chief थे! इनसे पहले Army Chief प्रेम नाथ थापर थे! जिन्‍होंने 1962 की War में हार के बाद Resign दे दिया था!

तत्‍कालीन रक्षा मंत्री यशवंत राव चव्‍हाण ने अपनी War Dairy में लिखा है कि चौधरी बहुत जल्‍दी डर जाया करते थे! अगर वो उन्‍हें Front पर जाने के लिए कहते थे तो वो इससे भी खौफ खा जाते थे!

इतना डर था कि PAK के आगे घुटने टेक दिए

India Pakistan War 1965

उनके इस डर का एक किस्‍सा मशहूर है! War के दौरान 20 September को प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्‍त्री ने Army Chief से पूछा कि अगर जंग (War) और कुछ दिन चले तो India को क्‍या फायदा होगा? Army प्रमुख ने कहा कि Army के पास गोला-बारूद खत्‍म हो रहा है और अब India, PAK से नहीं लड़ सकता !

आर्मी चीफ की बेकूफ़ाना हरकत

India Pakistan War 1965

उन्‍होंने PM को सलाह दी कि India को संघर्ष विराम का प्रस्‍ताव मंजूर कर लेना चाहिए! बाद में पता चला कि Indian Army के पास जितना गोला-बारूद था उसमें से बस 14 से 20 फीसदी ही जंग में खर्च हुआ था!

अभी भारत के पास इतना गोला-बारूद था कि वो Pakistan को मुंह तोड़ जवाब दे सकता था!

India Pakistan War 1965

ऐसे नाजुक मौके पर Army Chief की इस बेवकूफाना भरी हरकत के कारण India को हार का मुंह देखना पड़ा! Army Chief की गलतियां यहीं खत्‍म नहीं होती हैं!

उस समय Indian Army लाहौर तक पहुंच गई थी और सियालकोट पर भी कब्‍जा करने वाले थी! लेकिन Army Chief की बेवकूफी की वजह से PM ने सेना को रोक दिया!

क्या हुआ फिर पंजाब में

India Pakistan War 1965

जब PAK Army ने Punjab के खेमकरन पर हमला किया तो उस समय वहां पर Indian Army के Commander हरबख्‍श सिंह तैनाती पर थे!

Army Chief ने हरबख्‍श सिंह को Order दिया कि वो किसी सुरक्षित जगह पर चले जाएं! लेकिन हरबख्‍श सिंह ने इसे मानने से इनकार कर दिया! इसके बाद हुई थी Asal Uttar (The largest tank battle fought) की लड़ाई!

पाक आर्मी भाग गयी

India Pakistan War 1965

Indian Army के हवलदार अब्‍दुल हमीद ने बहादुरी दिखाते हुए पाक के कई Patton Tanks ध्‍वस्‍त कर दिए! 10 September की रात को India ने जवाबी हमला किया था!

इसमें PAK Army को खदेड़ दिया गया! इस दौरान Pakistani Army अपनी 25 तोपों को छोड़कर भाग खड़ी हुई थी! Tanks का Engine चल रहा था! उसमें लगे Wireless Set चालू थे!

आप सोच ही सकते हैं, Pakistan के लिए वो कितनी शर्मनाक हार थी! जबकि Indian Army की बहादुरी से देश का सीना गर्व से चौड़ा हो गया था!

लाहौर अपना होता

India Pakistan War 1965

कहा जाता है कि अगर वो Army Chief ना होता या वो इतना डरपोक ना होता! तो आज Pakistan के Lahore पर भारत का कब्‍जा होता!

Pakistani cricketers annual incomeपाकिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों की साल की इनकम जानकर रह जायेंगे हैरान

 

——

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here