BJP worker live hut no toilet: जिले का एक सक्रिय BJP leader का हाल जानकर चौक जाएंगे आप। जी हां नाम बड़े और दर्शन छोटे वाली कहावत यहाँ सटीक बैठतीरें और उपर से जीर्ण शीर्ण हालत में छप्पर, न शौचालय, न सड़क और न ही government से मिलने वाली कोई सुविधा।

BJP worker live hut no toilet

जी हां ये तस्वीरें किसी आम नागरिक की नहीं बल्कि BJP के एक कर्मठ leader और कार्यकर्ता की है। जिन्हें BJP ने कप्तानगंज विधानसभा के खजुरिया मिश्र गांव का booth president नियुक्त किया है।

BJP worker live hut no toilet

भाजपा समर्थक रामकैलाश मिश्र

उत्तर प्रदेश में योगी की सरकार है और केन्द्र में मोदी की government, मगर दोनों ही government मिलकर भी इस BJP कार्यकर्ता को उसका हक नहीं दिलवा सकी।

BJP worker live hut no toilet

गरीब होने के बावजूद BJP समर्थक रामकैलाश मिश्र जब अपने लिये सरकारी दफ्तर की चौखट पर 6 महिने से दौड़ लगाते रहे मगर उनकी मांग नहीं पूरी हो सकी तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि, आम public का क्या हाल होगा ।

छप्पर का घर होने की वजह से बरसात में कई

BJP worker live hut no toilet

रामकैलाश का कहना है कि, उनके पास रहने को मकान नहीं है, मिट्टी का घर बनाकर आज भी वे family के साथ जीवन यापन करते हैं, छप्पर का घर होने की वजह से बरसात में कई समस्या से उन्हें और उनकी family को जूझना पडता है,

BJP worker live hut no toilet

PM स्वच्छता अभियान को लेकर बेहद सजग है। जिसके लिये गांव-गांव हर घर में शौचालय बनवाने का काम चल सका है। मगर रामकैलाश एक शौचालय के लिये block का  चक्कर लगाते रह गये।

राम कैलाश अपने ईलाके के विधायक और सांसद

BJP worker live hut no toilet

उन्हें शौचालय नहीं मिला, आज भी घर की महिलायें और पुरुष सभी खुले में शौच जाने को मजबूर हैं, ऐसा नहीं है रामकैलाश अपने ईलाके के MLA और सांसद के पास न गये हो, वे वहां भी अपनी फरियाद लेकर गये मगर सांसद और MLA भी इस booth कार्यकर्ता की कोई मदद नहीं कर सके।

 

जिंदगी खत्म हो गई मगर रहने के लिए घर नहीं

BJP worker live hut no toilet

BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कहते हैं कि, हमारा booth अध्यक्ष ही हमारी ताकत है और हम इन्हीं की वजह से government में आये हैं।मगर शायद Amit Shah भी जमीनी हकीकत से कोसो दूर हैं, जिनकी आंख खोलने के लिये रामकैलाश की यह कहानी काफी है, राम कैलाश की पूरी जिंदगी खत्म हो गई मगर वे shadi नहीं कर सके, क्योंकि रामकैलाश के पास अपना घर नहीं,

BJP worker live hut no toilet

BJP worker live hut no toilet

मिट्टी के घर में रहने की वजह से कोई उनसे रिश्ता जोड़ना नहीं चाहा। बहरहाल, इस मामले को लेकर हमने सांसद Harish Dwivedi से बात की तो phone पर उन्होंने कहा कि, वे बाहर हैं मगर इस मामले की जानकारी नहीं थी.

रेलवे ने बदले अपने नियम, अब लोगों को नहीं मिलेगी यह सुविधा

 

 

——

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here