Ambedkar Statue Color Controversy Ambedkar को लेकर चल रही Politics में अब एक और बवाल शामिल हो गया है! अब Ambedkar की मूर्ति के रंग को लेकर हंगामा हो रहा है. जबकि Scheduled Castes के आयोग का रुख बताता है कि Ambedkar के नाम या रंग को लेकर चल रहे इस हेरफ़ेर से उन्हें कोई एतराज़ नहीं!

Ambedkar Statue Color Controversy:

BSP के लोग अपनी पसंद से मूर्ति लाए हैं

UP के बदायूं में बाबा साहेब Ambedkar की ये भगवा मूर्ति देखकर लोग नाराज़ हो गए. हंगामा बढ़ता इसके पहले पता चला कि BSP के लोग अपनी पसंद से मूर्ति लाए हैं!

बाद में ये मूर्ति रंग कर नीली कर दी गई! लेकिन राष्ट्रीय Scheduled Castes आयोग के अध्यक्ष रामशंकर कठारिया का ये बयान फिर विवाद पैदा कर सकता है कि Ambedkar की मूर्ति नीली ही हो, ये ज़रूरी नहीं!

मूर्ति को भगवा रंग से रंग दिया

रामशंकर कठारिया ने कहा,

” बाबा साहेब की मूर्ति Blue Color की ही हो ये कहीं नहीं लिखा है! उनके नाम पर Politics नहीं होनी चाहिए. वो बहुरंगी थे! अगर किसी ने व्यक्तिगत वजहों से उनकी मूर्ति को भगवा रंग से रंग दिया तो ये गलत नहीं है! “

मूर्ति की मरम्मत करता नज़र आया प्रशासन

सवाल है, क्या Ambedkar को दलितों के कब्ज़े से छुड़ाने के लिए उनकी मूर्तियों को रंगने का सिलसिला तो नहीं शुरू हो जाएगा? तोड़फोड़ तो अब भी जारी है! सहारनपुर में मंगलवार को भी प्रशासन एक मूर्ति की मरम्मत करता नज़र आया!

नाम बदलने पर विचार

Ambedkar का नाम बदलने के फ़ैसले को भी आयोग सही मानता है! रामशंकर कठारिया ने कहा,

” UP सरकार ने शुरुआत की है और अगर और भी राज्य इसकी आवश्यकता समझते हैं तो वो भी अपने यहां अध्ययन कराकर उपयुक्त लगे तो नाम बदलने पर विचार कर सकते हैं! “

ये बात केंद्र सरकार ने भी मानी है

Ambedkar की विरासत पर कब्ज़े की इस कोशिश के बीच UP में दलितों पर अत्याचार बढ़ रहे हैं! ये बात केंद्र सरकार ने भी मानी है!

इस साल 6 फरवरी को लोक सभा में गृह राज्यमंत्री हंसराज अहीर ने लिखित में ये जानकारी दी कि UP में 2015 में दलितों से अपराध के 8357 मामले दर्ज हुए जबकि 2016 में 10,426 यानी एक साल में 24.75% की बढ़ोतरी रही! लेकिन आयोग मानता है कि इसके दोषियों पर कार्रवाई भी हो रही है!

Rangana Herath retirementफैन्स के लिए बुरी खबर सबसे सफल गेंदबाज क्रिकेट की दुनिया को करने वाला है अलविदा

 

——

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here